Wednesday, February 6, 2013

आज त मौसम भल है रो।

आज त मौसम भल है रो, बेई ताले अन्यर-पट छि। परब़ेई झड़ पड़ गो छि, इतु दयो है पड़ो, यां मालवीय नगर मजि तलाब create है गो छि। याँ यस्से होई हो, जरा कयीं बटि water आये ने, सब जाग पाणी भरि बेर औरि काव है जां। खुट टेकर्ण मुश्किल है जां यार।

अब हमर कुमौं मजि यस काँ हूँ पे, जतु ले पाणि होई सब गाध्यर मजि बग जां, पे water logging  हुणेक ले chances भौते कम है जानि। उसि वां जे ले होई बढ़िया छू पे हो। अब याँ उस नि होई पे यर, 3 साल है गयीं याँ, आई ताले यो पत्त नि होई के अगल-बगल को छू, अब यो ले के life होई।

 आज घाम पड़ गो छि, पे मौसम भल है रो, आई  ब्याव ताले पे उससे है गो अब। Clowdy ले है रो।

No comments: